बुधवार, 20 अक्तूबर 2010

आशावादी होना

आशावादी व्यक्ति हर आपदा मेँ एक अवसर देखता है;

निराशावादी व्यक्ति हर अवसर मेँ एक आपदा देखता है।

12 टिप्‍पणियां:

uthojago ने कहा…

good effort, nice

Patali-The-Village ने कहा…

सही कहा है आपने|

ZEAL ने कहा…

That's true !

MANOJ KUMAR ने कहा…

bahut hi achha vichar. thanks.

Udan Tashtari ने कहा…

स्वागत है.

DR. ANWER JAMAL ने कहा…

आपने मोबाईल पर लिखा लेकिन अच्छा लिखा . स्वागतम . मरहबा . welcome .

राम त्यागी ने कहा…

स्वागत है डॉ अशोक हिंदी ब्लॉग्गिंग में आपका !
लिखते रहिये ऐसे ही !

Ramesh singh ने कहा…

बहुत ही साकारात्मक लिख रहे हैँ। विचार काफी प्रेराणात्मक लगा, आभार।

Surendra Singh Bhamboo ने कहा…

ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’
हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

मालीगांव
साया
लक्ष्य

हमारे नये एगरीकेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से

कृपया अपने ब्लॉग पर से वर्ड वैरिफ़िकेशन हटा देवे इससे टिप्पणी करने में दिक्कत और परेशानी होती है।

खबरों की दुनियाँ ने कहा…

अच्छी पोस्ट , शुभकामनाएं । पढ़िए "खबरों की दुनियाँ"

समय ने कहा…

थोड़ा सा और स्पष्ट करने की जरूरत थी, वरना आपदा में अवसर देखने वाले से एक नकारात्मक सी छवि भी उभरती है।

शुक्रिया।

BAAS VOICE - Dr. Purushottam Meena 'Nirankush' ने कहा…

शानदार प्रयास बधाई और शुभकामनाएँ।

एक विचार : चाहे कोई माने या न माने, लेकिन हमारे विचार हर अच्छे और बुरे, प्रिय और अप्रिय के प्राथमिक कारण हैं!

-लेखक (डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश') : समाज एवं प्रशासन में व्याप्त नाइंसाफी, भेदभाव, शोषण, भ्रष्टाचार, अत्याचार और गैर-बराबरी आदि के विरुद्ध 1993 में स्थापित एवं 1994 से राष्ट्रीय स्तर पर दिल्ली से पंजीबद्ध राष्ट्रीय संगठन-भ्रष्टाचार एवं अत्याचार अन्वेषण संस्थान- (बास) के मुख्य संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। जिसमें 05 अक्टूबर, 2010 तक, 4542 रजिस्टर्ड आजीवन कार्यकर्ता राजस्थान के सभी जिलों एवं दिल्ली सहित देश के 17 राज्यों में सेवारत हैं। फोन नं. 0141-2222225 (सायं 7 से 8 बजे), मो. नं. 098285-02666.
E-mail : dplmeena@gmail.com
E-mail : plseeim4u@gmail.com
http://baasvoice.blogspot.com/
http://baasindia.blogspot.com/

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...